Home / FACTS / tasmanian tiger in hindi तस्मानियाई शेर हुआ विलुप्त

tasmanian tiger in hindi तस्मानियाई शेर हुआ विलुप्त

 

क्यों हुआ 19वी सदी में तस्मानियाई शेर हुआ विलुप्त /tasmanian tiger Extinct story

tasmanian tiger in Australia
tasmanian tiger in Australia zoo cage

Tasmanian tiger :-आज के आधुनिक काल में हमने कई जाती के शेर और भेडिये के बारे में जाना है और उनके रहन सहन के लिए कई कार्य कर रहे है . आज शेर की संख्या तेज़ी से बड रही है. क्युकी उन्हें इंसानों द्वारा अब रहने का माहोल दिया जा रहा है .लेकिन 19 वी सदी में शेर को मारा जाता था तथा उनकी खाल की तस्करी की जाती थी. लेकिन आज के दौर में रहने वाले 19 वी सदी के शेर यानि तस्मानियाई शेर या तस्मानियाई भेड़िया को नही देख सकते. क्युकी इस तस्मानियाई शेर की जाती पूरी तरीके से विलुप्त हो चुकी है. tasmanian tiger ऑस्ट्रेलिया में तस्मानिया द्वीप और न्यू गिनी में रहता था . यह अपने थायलेसायनिडाए नाम की जीववैज्ञानिक कुल की आख़री जीवित जाति थी क्युकी इस जाती के बचे दुसरे जिव आज से 50 लाख वर्ष पूर्व ही विलुप्त हो गये थे . इसलिए यह थायलेसायनिडाए नस्ल दुनिया के लिए बहुत कीमती थी .

तस्मानियाई शेर ( Tasmanian tiger )इसका नाम इसलिए है क्युकी यह शेर की तरह हमला कर अपने शिकार खाता था और कुछ लोग इसे (Tasmanian wolf)भेड़िया भी कहते थे क्युकी यह भेडिये की तरह दिखता था .इस tasmanian tiger को अपनी पीठ पर बने धारियों से जाना जाता था जो बिलकुल tiger के उपर बनी धारियों की तरह दिखाई देती है.विलुप्त जाती 

thylacine tiger कंप्यूटर द्वारा रंगीन की
thylacine tiger कंप्यूटर द्वारा रंगीन की

कैसे तस्मानियाई शेर हुआ विलुप्त हुआ / How the Tasmanian tiger became extinct

जानवरों की हर प्रजाति का लुप्त होने का कारण हमेशा इंसानों को बताया जाता है .क्युकी इंसान आधुनिक होने के लिए यह भूल जाता है की यह दुनिया इंसानों के साथ साथ यहाँ के जानवरों की भी है. Tasmanian tiger के विलुप्त होने का कारण भी इंसान ही है . जब 18 वी सदी में यूरोप के लोग ऑस्ट्रिया में रहने आये तब Tasmanian tiger की संख्या कम थी .लेकिन विलुप्ति में नही थी .लेकिन 19 वी सदी तक आते आते तस्मानियाई शेर का शिकार होने लगा .यह जिव धीरे धीरे वहा हटकर तस्मानिया के द्वीप में जा पंहुचा .लेकिन जब तक इन शानदार अनोखा जिव के शिकार पर इनाम मिलने लगा.जिसके कारण तस्मानिया दिव्प में भी इनका शिकार होने लगा.

ज्यादा शिकार होने पर जब इनकी जाती विलुप्त होने लगी तो कुछ Tasmanian tiger को चिड़िया घर में संभाल कर रखा जाने लगा. और इनकी जाती को संरक्षित करने का काम होने लगा लेकिन एक एक करते यह जिव विलुप्त हो गया और 1936 में आखिरी Tasmanian tiger ने अपना दम तोड़ दिया.इसी तरह भारत में भी कुछ समय तक शेरो की संख्या विलुप्त होने के कगार में थी .लेकिन भारत सही समय पर फैसला लेकर tiger rescue की टीम बनायीं और भारत में save tiger का नारा मिला .जिसके कारण आज indian tiger भारत में अच्छे से जीवन व्यापन कर रहे है .

Check Also

monalisa मोनालिसा चित्र की अनोखी बाते

monalisa in hindi मोनालिसा चित्र की अनोखी बाते

monalisa मोनालिसा चित्र की अनोखी बाते monalisa मोनालिसा की चित्रकला को शायद ही कोई ऐसा …