Home / TECHNOLOGY / credit card or debit card डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में अंतर

credit card or debit card डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में अंतर

credit card or debit card डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के बारे में जानकारी

credit card or debit card

बैंकों को समझ पाना हमेशा से ही बहुत मुश्किल रहा है. और वह लोग जिन लोगों ने अभी-अभी बैंकिंग स्टार्ट की है. उनके लिए भी यह एक बहुत परेशानी वाली बात है. अभी भी बहुत से लोग ऐसे हैं जो रोज इनका यूज करते हैं पर इसका मतलब ठीक से नहीं जानते. जिस तरह सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड  अक्सर देखा गया है कि. बहुत से लोग इन दोनों प्रोडक्ट को एक ही मानते हैं. क्योंकि इन दोनों के काम करने के तरीके और दिखने में समानता होती है. और अगर इनके बारे में अच्छे से जाने तो इन दोनों के बीच में जमीन और आसमान का फर्क होता है. यह दोनों एक दूसरे से बहुत अलग होते हैं. सेविंग अकाउंट , करंट अकाउंट से अलग होता है. और डेबिट कार्ड , क्रेडिट कार्ड से अलग होता है. इन दोनों में क्या अंतर है इसे जानने से पहले इन दोनों में क्या-क्या समानताएं हैं इसके बारे में जान लेते हैं.

 

डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में समानता

 

दोनों ही प्लास्टिक के कार्ड होते हैं. जिन का आकार समान होता है. तथा इनके रूपरंग दिखने में भी बहुत हद तक समान होते हैं.

 

दोनों ही कार्ड को पेमेंट करने के लिए यूज़ किया जाता है. और इन्हें यूज़ करने का तरीका भी बहुत हद तक एक जैसा होता है.

 

यह दोनों कार्ड किसी ना किसी बैंक के माध्यम से ही मिलती है.

 

यह दोनों ही कार्ड हमारे वित्तीय लेनदेन ऑनलाइन बैंकिंग जैसे काम को और भी अधिक आसान बनाते हैं.

 

डेबिट कार्ड क्या होता है

डेबिट कार्ड

डेबिट कार्ड के पैसे का स्रोत क्रेडिट कार्ड के पैसे के स्रोत से अलग होता है. जबकि दोनों ही सुविधा के नजरिए से बराबर होते हैं. यदि आप डेबिट कार्ड से पेमेंट करते हैं. तो पेमेंट का अमाउंट आपके बैंक के खाते सेविंग अकाउंट या करंट अकाउंट से कटते हैं. और यदि आपके अकाउंट में उतना अमाउंट नहीं है. जितना आप पे कर रहे हैं. तो आप का लेन देन पूरा नहीं होगा.

 

क्रेडिट कार्ड क्या होता है

क्रेडिट कार्ड

यदि किसी व्यक्ति को छोटी रकम बैंक से उधार लेनी हो तो उस प्रोसेस में बहुत अधिक समय लगता है. और बहुत से कागजी कार्य भी करने पड़ते हैं. तथा ग्राहक को परेशानी उठानी पड़ती है. इसी को आसान बनाने के लिए क्रेडिट कार्ड बनाया गया है. जिसके द्वारा ग्राहक को बार-बार बैंक जाने की जरूरत नहीं है. वह अपने क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल से उधार ले सकता है. यदि आप क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करते हैं तो बैंक आपको उधार के रूप में आपका पेमेंट कर देता है. और बैंक के दिए समय अनुसार ग्राहक को वह अमाउंट बैंक को वापस लौटाना होता है. क्रेडिट कार्ड की लिमिट भी होती है. जो ग्राहक के आर्थिक  स्थिति के आधार पर बैंक द्वारा तय किया जाता है. क्रेडिट कार्ड उन्हीं लोग को मिलता है जिनका फिक्स इनकम होता है.

कई बार जब हम ऑनलाइन पेमेंट करते हैं. तो कई जगह पर डेबिट कार्ड की जगह क्रेडिट कार्ड यूज़ करने का होता है. इसके लिए आप वर्चुअल क्रेडिट कार्ड भी बना सकते हैं. जो आपको ऑनलाइन सर्च करने पर भी मिल जाएगा. या फिर कई बार लोग अपना रियल क्रेडिट कार्ड की इंफॉर्मेशन दूसरी जगहों पर लिंक करने से डरते हैं. तो वह वर्चुअल क्रेडिट कार्ड बनाकर पेमेंट कर सकते हैं.

credit card or debit card को यूज करते समय हमें सावधानियां रखनी चाहिए

bank-access

  • अपने कार्ड का नंबर किसी को भी ना बताए और ना ही किसी दूसरे को अपना कार्ड दे.

 

  • किसी के भी पूछने पर अपनी कार्ड का पासवर्ड किसी को ना बताएं. यहां तक की बैंक वाले भी आपसे आपका पासवर्ड नहीं पूछते.

 

  • अपनी कार्ड की इनफार्मेशन को ऑनलाइन साइट पर स्टोर ना करें इससे आपके अकाउंट की हैक होने की संभावना बढ़ जाती है.

 

  • अपने कार्ड के पासवर्ड को कुछ समय बाद चेंज करते रहना चाहिए. जिससे ऑनलाइन फ्रॉड की संभावना कम हो जाती है.

 

  • किसी भी दुकान पर कार्ड्स स्वाइप करने के बाद रिसिप्ट लेना ना भूले. और आपने उस शॉप में जितने का पेमेंट किया हे वो उस रिसिप्ट पर जरुर देखे.

 

Check Also

new technology आने वाले समय की दिलचस्प बाते

new technogy new technology दिलचस्प बाते इशारे से चलने वाला computer. आज की दुनिया में …